ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
उत्तर प्रदेश शासन द्वारा विभिन्न परियोजनाओं के लिए जारी की गई धनराशि::--
November 30, 2019 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

   

लखनऊ :30 नवंबर 2019

  उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद के निर्देशों के क्रम में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जनपद मथुरा में छाता- बरसाना मार्ग पर आगरा- पलवल रेल सेक्शन के किलोमीटर 1429/ 4-6 के सम्पार संख्या 544 ए पर चार लेन  रेल उपरिगामी सेतु के निर्माण हेतु पुनरीक्षित  आंकलित लागत रु0      64 करोड़ 64 लाख  + जीएसटी  नियमानुसार की वित्तीय व प्रशासनिक  स्वीकृति प्रदान की गई है।                                

जनपद गोरखपुर में उरुवा ब्लाक के दो लेन में मार्ग से जोड़ने हेतु बांसगांव- माल्हनपुर -दशवतपुर  उरूवा के किमी 11 से किमी 19 तक  मार्ग के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य की आंकलित लागत रू 1473. 01 लाख की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान करते हुए उत्तर प्रदेश शासन द्वारा लागत के सापेक्ष चालू वित्तीय वर्ष में 5करोड़ 89 लाख रुपए की धनराशि अवमुक्त की गई है। तथा जनपद बहराइच में पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना के अंतर्गत तहसील महसी को जनपद मुख्यालय से दो लेन मार्ग से जोड़ने हेतु रमपुरवा -शिवपुर -इमामगंज- नानपारा मार्ग 10 किलोमीटर में चौड़ीकरण एवं  सुदृढ़ीकरण कार्य हेतु  6 करोड़ 90 लाख की धनराशि अवमुक्त की गई है। इस कार्य की कुल स्वीकृत लागत 1733.56  लाख है ।                                                     प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश शासन श्री नितिन रमेश गोकर्ण ने बताया की इस बाबत उत्तर प्रदेश शासन  लोक निर्माण  अनुभाग- 11 द्वारा शासनादेश जारी कर दिए गए हैं ।जारी शासनादेशो में प्रमुख अभियंता विकास एवं विभागाध्यक्ष, लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया है कि वह निर्धारित  शर्तों के अनुरूप कार्यो को संपादित कराएंगे।
- उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के हवाले से बताया गया है कि जनपद बस्ती में तहसील सदर के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र महादेवा में बनकटी पीपरपाती मार्ग पर कुवानो नदी , सेल्हराघाट नदी पर सेतु निर्माण कराए जाने हेतु 9.5 करोड़ से अधिक की  धनराशि की स्वीकृति प्रदान की गई है तथा जनता की मांग को दृष्टिगत रखते हुए जनपद अंबेडकरनगर में ग्रामसभा भिदूर  डड़िया तेवरिया का पुरा में लघु  सेतु बनाए जाने हेतु एक करोड़ से अधिक की धनराशि की स्वीकृति प्रदान की गई है।