ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
उत्तर प्रदेश डेंगू नियंत्रण के लिए प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य हुए सख्त संवेदनशील तीन जनपदों के अधिकारियों को बुलाकर दिये निर्देश ::--
November 3, 2019 • Sun India Tv News चैनल

लखनऊः 02.11.2019

प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री देवेश चतुर्वेदी ने कहा कि डेंगू नियंत्रण के लिए सभी सम्भव उपाय युद्धस्तर पर किये जायें। उन्होंने कहा कि डेंगू प्रभावित सघन क्षेत्रों में ए0एन0एम0 और आशाओं की टीमें भेजकर घर-घर जागरूकता का प्रचार-प्रसार करें। उन्होंने नगर निगम से कूड़ा उठाने वाली गाड़ी में लाउडस्पीकर के माध्यम से डेंगू पर जानकारी और नियंत्रण की आवश्यक कार्यवाही का प्रचार कराने का निर्देश दिया। 
प्रमुख सचिव श्री देवेश चतुर्वेदी ने आज यहाॅ विकास भवन, सचिवालय के पंचम तल स्थित सभागार में जनपद लखनऊ, कानपुर नगर एवं प्रयागराज के चिकित्सा विभाग तथा नगर निगम के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ डेंगू की रोकथाम एवं बचाव के सम्बन्ध में की जा रही कार्यवाही की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से वास्तविक डेंगू मरीजों का आंकड़ा प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने कहा प्राइवेट लैब में जो टेस्टिंग हो रही हैं वहाॅ से भी डेंगू प्रभावित मरीजों की रिपोर्ट के आंकड़े लिए जाएं।

लखनऊ के मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 नरेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि जनपद में विविध टेस्टिंग के लिए अधिकृत तौर पर 36 प्राइवेट लैब हैं, जिनमें से मात्र 12 प्राइवेट लैब एलीजा टेस्ट कर सकती हैं। एलीजा टेस्ट ही वास्तव में डेंगू का टेस्ट हैं और इस टेस्ट की रिपोर्ट 06 घंटे के उपरान्त प्राप्त होती है। उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पतालों में डेंगू के मरीजों का शत-प्रतिशत रिकार्ड रखा जा रहा है। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिया जिन प्राइवेट लैब में एलीजा टेस्ट हो रहा हैं उनसे नियमित रिपोर्ट मंगाकर डेंगू पाॅजिटिव मरीजों की जानकारी ली जाये तथा उनके क्षेत्रों में नियंत्रण के विशेष अभियान चलाये जायें। 
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी कानुपर नगर ने आशा व ए0एन0एम0 के माध्यम से घनी आबादी वाले शहरी क्षेत्रों में घर-घर मच्छर उत्पन्न करने वाली स्थितियों को नष्ट करने तथा स्प्रे कराने का सुझाव दिया। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिया कि नियंत्रण अभियानों के साथ-साथ जन-जागरूकता अभियानों में भी तेजी लायी जाये तथा ट्रैफिक सिग्नल और चैराहों पर भी डेंगू सम्बन्धी जागरूकता का एनाउन्समेंट करवाया जायें। उन्होंने नगर-निगम के अधिकारियों से कहा कि जो शहरी क्षेत्र उनके अधिकार में नहीं आते है वे उन क्षेत्रों में भी साफ-सफाई करवायें तथा फाॅगिंग भी करवायें। 
बैठक में सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण वी0हेकाली झिमोमी, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, मुख्य चिकित्साधिकारी लखनऊ, कानपुर नगर एवं प्रयागराज, निदेशक संचारी रोग, अपर निदेशक संचारी रोग, नगर स्वास्थ्य अधिकारी तथा नगर आयुक्त लखनऊ की प्रतिनिधि सहित समस्त सम्बन्धित एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।