ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
उप मुख्यमंत्री ने बताया कैलाश मानसरोवर यात्रा को सुगमता प्रदान करते हुए मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने कैलाश यात्रियों के लिए लिंक रोड का तोहफा दिया:::~~पढें पूरी खबर
May 10, 2020 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

लखनऊ: 10 मई 2020 

कैलाश मानसरोवर यात्रा अब होगी आसान -केशव प्रसाद मौर्य 

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कैलाश मानसरोवर यात्रा को सुगमता प्रदान करते हुए मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने कैलाश यात्रियों के लिए लिंक रोड का तोहफा दिया है। रक्षा मंत्री मा० श्रीराजनाथ सिंह जी द्वारा अभी हाल ही में इसका उद्घाटन किया गया है। इस लिंक रोड के निर्माण के लिए श्री केशव प्रसाद मौर्य ने मा०प्रधानमंत्री जी व मा०रक्षामंत्री जी का हृदय से अभिनंदन किया है और कैलाश पति से प्रार्थना करते हुए कहा है कि भगवान भोलेनाथ कोरोना वायरस रूपी  वैश्विक संकट से देश की रक्षा करे।

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए लिंक रोड के उद्घाटन से कैलाश मानसरोवर यात्रा अब आसान होगी। कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने वाले लोग 21 दिन के स्थान पर केवल 1 सप्ताह में यात्रा पूरी कर सकेंगे और कैलाश मानसरोवर यात्रा दुर्लभ रास्तों से भी नहीं करनी पड़ेगी।  चीन की सीमा तक सड़क बनने से अब यात्री सीधे लिपुलेख पहुंच सकेंगे। इस सड़क के निर्माण से आर्थिक विकास भी तेज होगा और चीन सीमा पर सैनिकों की तैनाती और रसद आपूर्ति भी आसान होगी । 

  श्री मौर्य ने बताया कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए अब तक यात्रियों को आधार शिविर धारचूला से लगभग 80 किलोमीटर यात्रा पैदल ही करनी पड़ती थी और दुर्गम स्थलों से होकर गुजरने वाली यात्रा बहुत कठिन थी। यात्रियों को पहली शाम आधार शिविर में  रहना पड़ता था। सीमांत तक सड़क बनने से अब कैलाश यात्री सीधे दिल्ली से लिपुलेख पहुंच सकेंगे। इस सड़क के बनने से कठिन माने जाने वाली यात्रा आसान हो सकेगी, इसके अतिरिक्त छोटा कैलाश की यात्रा भी सुगम होगी।
उप मुख्यमंत्री ने सीमा सड़क संगठन द्वारा  किए गए इस कठिन कार्य की तारीफ की है । श्री मौर्य ने कहा कि यह रोड कैलाश मानसरोवर के लिए गेटवे साबित होगी।  कहा कि इस सड़क को बनाने में  कठिन चट्टानों को काटा गया है।इस कार्य में  श्रमिकों  ने अथक परिश्रम  किया है। 


गौरतलब है कि चीन सीमा के लिए बनी घट्टाबगढ़ लीपूलेख सड़क ( 80किमी०) का उद्घाटन अभी हाल ही में मा० रक्षामंत्री राजनाथ सिंह द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए किया गया है।