ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
नागरिकों की आवश्यकताओं की पूर्ति, स्वास्थ्य सेवा एवं सुरक्षा हेतु सरकार पूरी तरह प्रतिबद्धता  के साथ कार्य कर रही है:::----केशव प्रसाद मौर्य
April 6, 2020 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

लखनऊ 6 अप्रैल 2020 

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा  कि कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर सरकार  नागरिकों की आवश्यकताओं की पूर्ति ,स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता एवं सुरक्षा हेतु  पूरी  प्रतिबद्धता साथ कार्य कर रही है ।श्री केशव प्रसाद मौर्य ने स्वयंसेवी संस्थाओं ,संगठनों ,औद्योगिक व व्यापारिक संगठनों, समितियों ,ट्रस्ट ,फर्मों  गैर सरकारी संस्थाओं व अन्य सभी समृद्ध लोगों से के कोरोना संकट को देखते हुए मा0 प्रधानमंत्री केयर फण्ड व उत्तर प्रदेश कोविड केयर फंड में धनराशि दान करने/ आर्थिक सहयोग करने की अपील की है।

 श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कोरोना को लेकर हर स्तर पर एक के बाद एक प्रोएक्टिव होकर भारत सरकार ने कई फैसले लिए और राज्य सरकारों के सहयोग से इन फैसलों को गति भी मिली।
 उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि बैंकों में भीड़ ना लगाएं और सामाजिक दूरी बनाए रखें तथा अफवाहों से बचें और घर पर रहे। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मणरेखा कतई नहीं लांघना है ,कोरोना की चेन तोड़ने का यही सबसे बड़ा रामबाण उपाय है।

लखनऊ 6 अप्रैल 2020 

 श्री मौर्य ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण फैलने के मद्देनजर रबी फसलों हेतु किसानों के लिए आईसीएआर द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है, किसानों के लिए सावधानी एवं सुरक्षा का पालन करना बहुत आवश्यक है,  ताकि इस महामारी के फैलाव को रोका जा  सके। श्री मौर्य ने खेतों में कार्य करते समय भी सोशल डिस्टेन्सिग बनाए रखने की आवश्यकता पर बल दिया है ।
उन्होने बताया कि ब्लूटूथ तकनीक पर आधारित कोविड-19 ट्रैकर "आरोग्य सेतु एप "लांच किया गया है, यह ऐप उपयोगकर्ता को संक्रमित व्यक्ति के निकट आते ही सतर्क करेगा । 
श्री   मौर्य ने बताया कि कोरोना के  मद्देनजर लोक निर्माण विभाग द्वारा गेस्ट हाउसों में  जिला स्तर पर स्वयंसेवी लोगों के  सहयोग से  कम्युनिटी किचन सेंटर चलाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आज प्रदेश भर में लोक निर्माण विभाग/ सेतु निगम /निर्माण निगम की टीम की देखरेख में 9329 भोजन के पैकेट व 4270 राशन सामग्री के पैकेट गरीबों रोज खाने कमाने वाले लोगों व श्रमिकों ,मजदूरों आदि को वितरित किए गए।