ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
मण्डलायुक्त ने कहा कि इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य है कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को पूरी पारदर्शिता के साथ कैसे ग्राम पंचायत के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया जायें:::---
November 13, 2019 • Sun India Tv News चैनल • जनपदीय

जिला लखनऊः-13 नवम्बर 2019,    
मण्डलायुक्त श्री मुकेश मेश्राम की अध्यक्षता में पंचायती राज प्रशिक्षण संस्थान (पिं्रट) लोहिया भवन, अलीगंज लखनऊ में ”जन योजना अभियान” सबकी योजना सबका विकास हेतु मीडिया कार्यशाला का दीप प्रज्जवल कर शुभारम्भ किया गया, जिसमें निदेशक पंचायती राज, मण्डल के सभी जनपदों के गणमान्य व्यक्तियों सहित जिला विकास अधिकारी, पी0डी0 डी0आर0डी0ए0, डी0सी0 मनरेगा, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित प्रेस/मीडिया के प्रतिनिधि व ग्राम प्रधान उपस्थित थे।
मण्डलायुक्त ने कहा कि इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य है कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को पूरी पारदर्शिता के साथ कैसे ग्राम पंचायत के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया जायें तथा ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायत के सर्वागीण विकास की योजना तैयार की जायें।
उन्होंने कहा कि जनयोजना अभियान के तहत 2020-21 के लिये तैयार की जा रही कार्ययोजना में प्लास्टिक मुक्त गांव पर खासा जोर दिया जाये। उन्होंने कहा कि गांव के विकास के साथ ही खेती-किसानी शिक्षा और स्वास्थ्य की योजनाओं को भी इस कार्ययोजना में शामिल किया जाये तथा स्वच्छता जल संचयन और वृक्षारोपण को कार्ययोजना में शामिल किया जायें।
उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में सर्व प्रथम ग्राम पंचायतों की परिसम्पत्तियों/सम्पत्तियों का रजिस्ट्रर तैयार कर लिया जायें तथा विभिन्न योजनाओं के वित्तीय संसाधनों का उपयोग कर उनका रख-रखाव व मरम्मत सुनिश्चित करायी जायें।
उन्होंने कहा कि  जन कल्याणकारी योजनाओं व करायें जा रहें विकास कार्यों में पारदर्शिता लाने के लिये प्रत्येक ग्राम पंचायत के पंचायत घर में ग्राम सभा के क्या कार्य है, ग्राम सभा के क्या अधिकार है, ग्राम पंचायत की बैठक कब आयोजित की जायेगी तथा ग्राम पंचायत मे कितने विद्यालय है, अस्पताल है, बाजार है, समूह है, तालाब है, हैण्डपम्प है, सड़कें है उनका पूरा विवरण डिस्प्ले किया जायें।
उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों की बैठक में विकास स्थिति की ड्राफ्ट रिपोर्ट को पढ़कर सुनाया जायें तथा ग्राम पंचायतों के विकास के लिये क्या उपाय हो सकते है इसके सुझाव प्राप्त कर कार्य योजना तैयार की जायें।
उन्होंने कहा कि यदि हमने पहले से प्रयास नहीं किया लोगों को जागरूक नहीं किया तो आगे की बहुत बड़ी चुनौती पानी से होने वाली है। इसके लिये हम पूर्व से ही ग्राम पंचायतों में चैपाल लगाकर लोगों को जागरूक करें कि जल संचयन किया जायें, जल का दुरूपयोग न किया जायें। उन्होंने कहा कि बरसात के मौसम में होने वाली वर्षा का हम 15 से 20 प्रतिशत जल ही संचयन कर पाते है शेष 85-80 प्रतिशत जल व्यर्थ हो जाता है। उन्होंने कहा कि  प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक कार्ययोजना तैयार की जाये कि किस प्रकार हम बारिश के जल का शत-प्रतिशत संचयन कर सकें। उन्होंने कहा कि ग्राम  पंचायतों के पुराने कुओं की साफ-सफाई कराकर तालाबों की साफ-सफाई कराकर जल संचयन हेतु प्रयास किया जायें। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में प्रत्येक वर्ष प्रति व्यक्ति वृक्षारोपण कराया जायें।
       उन्होंने बताया कि गांव के विकास के लिए वर्ष 2020-21 की कार्य योजना ग्राम सभा की खुली बैठक में गांव वासियो की सहभागिता के अनुसार ही बनाई जाएगी जिसमें ग्रामवासियों द्वारा उठाई गई प्रत्येक समस्याओं को प्राथमिकता प्रदान करते हुये कार्ययोजना में सम्मिलित किया जाएगा जिससे पूरे गांव का सर्वागीण विकास किया जाना सम्भव हो सके।
उन्होंने कहा कि ग्राम सभा की बैठक का रोस्टर तैयार कर बैठक का आयोजन किया जाएगा, मिशन अन्त्योदय का डाटा ग्राम वासियों के समक्ष रखकर उस पर चर्चा की जाएगी, स्वच्छता, जल संचयन ,वृक्षारोपड़,प्लाास्टिक मुक्त,बिना लागत,कम लागत एवं गांव की स्वयं की आय के कार्यो को भी कार्ययोजना में सम्मिलित किया जाएगा, सार्वजनिक स्थलो पर गाॅव में
कराये गये कार्यो की वाल-पेंटिग या जन सूचना बोर्ड लगवाया जाएगा, मोबाइल एप्प की सहायता से ग्राम सभा की बैठक एवं जन सूचना बोर्ड की फोटो अपलोड की जाएगी, वित्तीय वर्ष 2020-21 की कार्ययोजना प्लान-प्लस पर अपलोड की जाएगी, प्रत्येक कार्य की uniquework id होगी, प्रधान सचिव के डिजिटल सिग्नेचर से ही कराये गये कार्यो का आनलाॅइन पेमेंट हो सकेगा, कराये गये कार्यो की पूरी जानकारी आनलाॅइन रहेगी, अच्छे कार्य करने वाली ग्राम पंचायतो को पुरूस्कार भी दिया जाएगा