ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
लॉक डाउन बढ़ाने की अटकलों पर विराम मुख्यमंत्री ने अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा दिए निर्देश::==पढें विस्तार से खबर क्या निर्देश दिए गए हैं
July 12, 2020 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

मुख्यमंत्री ने अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा की कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत अब सभी बाजार सोमवार से शुक्रवार तक खुलेंगे तथा शनिवार व रविवार को साप्ताहिक बन्दी रहेगी साप्ताहिक बन्दी के दौरान सभी बाजारों की स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन के लिए विशेष कार्यक्रम चलेगाऔद्योगिक इकाइयांे को शनिवार व रविवार को अपने यहां सेनिटाइजेशन का कार्य कराने के निर्देशl

सभी कोविड अस्पतालों में आॅक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जाए वर्तमान में चल रहे निर्माण कार्य जैसे एक्सप्रेस-वे, डैम इत्यादि तथा बाढ़ के दृष्टिगततटबन्धों की मरम्मत के कार्य सोशल डिस्टेंसिंग के साथ निरन्तर किए जाएं: मुख्यमंत्री

कोविड-19 के दृष्टिगत इससे बचाव के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए कोविड-19 से रोकथाम के लिए पूरे प्रदेश में घर-घर पहुंचकर सर्वे का कार्य किया जा रहा हैटस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 50 हजार टेस्टिंग प्रतिदिन करने के निर्देशजनपद कानपुर नगर, देवरिया, कुशीनगर, बलिया व वाराणसी में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश

लखनऊ: 12 जुलाई, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत अब सभी बाजार सोमवार से शुक्रवार तक खुलेंगे तथा शनिवार व रविवार को साप्ताहिक बन्दी रहेगी। साप्ताहिक बन्दी के दौरान सभी बाजारों की स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन के लिए विशेष कार्यक्रम चलेगा। उन्होंने कहा कि औद्योगिक इकाइयां भी शनिवार व रविवार को अपने यहां सेनिटाइजेशन का कार्य करें। सभी कोविड अस्पतालों में आॅक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। यह भी देखा जाए कि अस्पताल में 48 घण्टे के लिए आॅक्सीजन का बैकअप मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चल रहे निर्माण कार्य जैसे एक्सप्रेस-वे, डैम, बाढ़ के दृष्टिगत तटबन्धों की मरम्मत के कार्य सोशल डिस्टेंसिंग के साथ निरन्तर किए जाएं। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि वर्षा के कारण कहीं भी जल भराव की स्थिति न बने।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत इससे बचाव के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। लोगों को जागरूक किया जाए कि वे मास्क को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं तथा समय-समय पर साबुन से हाथ धोते रहें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि अब तक 77 हजार राजस्व गांवों में स्वच्छता के विशेष अभियान के साथ ही फाॅगिंग कराई जा चुकी है, जबकि 9 हजार नगरीय निकायों के वार्डों मंे भी फाॅगिंग कराई गई है। यह भी अवगत कराया गया कि ग्राम प्रधानों से संवाद स्थापित कर विशेष सफाई अभियान चलाने के लिए निर्देशित किया गया है।

मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि कोविड-19 से रोकथाम के लिए पूरे प्रदेश में घर-घर पहुंचकर सर्वे का कार्य किया जा रहा है। इससे जहां एक तरफ लोग कोरोना के सम्बन्ध में जागरूक हो रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ इससे संक्रमित लोगों को उपचार भी मिल रहा है। उन्होंने टिड्डी दल पर प्रभावी नियंत्रण के लिए रसायन का छिड़काव किए जाने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री जी ने टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 50 हजार टेस्टिंग प्रतिदिन करने के निर्देश दिए। उन्होंने गोरखपुर के मण्डलायुक्त को अपने मण्डल के सभी जनपदों में कोविड-19 से रोकथाम व संचारी रोगों के दृष्टिगत चलाए जा रहे अभियानों की प्रभावी माॅनिटरिंग करने के निर्देश दिए। बिना लक्षण वाले मरीजों को कोविड-19 के एल-1 अस्पतालों में भर्ती कराया जाए। उन्होंने जनपद कानपुर नगर, देवरिया, कुशीनगर, बलिया व वाराणसी में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा ग्राम व वाॅर्ड स्तर पर पल्स आॅक्सीमीटर उपलब्ध कराए गए हैं। इनका सदुपयोग कोरोना से निपटने में किया जाए। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री को सभी सी0एम0ओ0 से संवाद स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सा शिक्षा मंत्री को भी सभी मेडिकल काॅलेजों तथा संस्थानों से संवाद स्थापित करने के लिए कहा। इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास तथा पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार एवं सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।