ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
देश के युवा देश के भविष्य का आधार हैं, राष्ट्र निर्माण में युवाओं की अहम भूमिका है :::---केशव प्रसाद मौर्य।        
January 16, 2020 • Sun India Tv News चैनल • राष्ट्रीय

लखनऊः16,जनवरी,2020

 उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि देश के युवा देश के भविष्य का आधार हैं, राष्ट्र निर्माण में युवाओं की अहम भूमिका है। श्री केशव प्रसाद मौर्य आज इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित 23वें राष्ट्रीय युवा उत्सव के समापन समारोह को बतौर विशिष्ट अतिथि संबोधित कर रहे थे।  

उन्होंने कहा कि युवा महोत्सव के आयोजन से देश के युवाओं में एक नई ऊर्जा और एक नए उत्साह का संचार हुआ है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय युवा महोत्सव स्वामी विवेकानंद जी की शिक्षाओं, विचारधारा और जीवन दर्शन से बहुत कुछ हासिल करने की कुंजी साबित हुआ है। हम सभी को न केवल उनकी शिक्षाओं के बारे में अध्ययन करना चाहिए, बल्कि उन्हें अपने दैनिक जीवन में शामिल करना चाहिए। युवा ही किसी  भी देश की उन्नति का आधार होता है ।युवा उत्सव से अपनी विविध सांस्कृतिक प्रतिभाओं को प्रदर्शन करने के लिए राष्ट्रभर के युवाओं को एक शानदार अवसर मिला है जो लंबे समय तक याद किया जायेगा।युवाओं का आह्वान करते हुए उन्होने कहा कि वे स्वामी विवेकानंद के विचारों को आत्मसात करते हुए उनपर अमल करें, इससे वह स्वयं के साथ-साथ राष्ट्र और समाज को भी सशक्त बना सकेंगे ।

श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा की युवाओं के बल पर ही मोदी जी के नेतृत्व में स्वर्णिम भारत की परिकल्पना  निरंतर साकार हो रही है   इस अवसर पर उन्होंने घोषणा की कि  उत्तर प्रदेश का कोई भी युवा किसी भी क्षेत्र में देश या दुनिया में स्वर्ण पदक लाएगा ,तो उसके घर तक सड़क बनवाई जाएगी और उस सड़क का नाम "मेजर ध्यानचंद विजयपथ" रखा जाएगा।

लोक निर्माण विभाग लखनऊ मुख्यालय(निर्माण भवन) के मुख्य गेट  के पास बनाया जाएगा विश्वेश्वरैया द्वार:::----केशव प्रसाद मौर्य।    

 

  लखनऊ: 16 जनवरी 2020      

           उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग मुख्यालय (निर्माण भवन ) लखनऊ के मुख्य गेट के पास भव्य और आकर्षक विश्वेश्वरैया द्वार बनाए जाने के निर्देश लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिए हैं ।इस संबंध में लोक निर्माण विभाग द्वारा विश्वेश्वरैया द्वार  की बहुत ही तीव्र गति से डिजाइन तैयार की जा रही है और इसे शीघ्र ही अमलीजामा पहनाया जाएगा ।उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि विशेश्वरैया  द्वार को भव्य और आकर्षक बनाया जाए जो उनके व्यक्तित्व के अनुकूल व सभी के लिए प्रेरणाप्रदसाबित हो। उन्होने डिजाइन व नक्शे को  बेहतर रूप देने के लिये एक कमेटी भी बनायी है।                  

  ज्ञातव्य है ,कि  भारत रत्न सेअलंकृत विश्वेश्वरैया एक प्रख्यात इंजीनियर थे। उन्हें भारत की प्रौद्योगिकी का जनक कहा जाता है। उनका सिद्धान्त था  ,कि लगन से काम करो ,कड़ी मेहनत करो और निर्धारित कार्य का समय नियत करो ।योजना बनाकर गुण दोष के आधार पर रणनीति तय करके मिलजुल कर काम करो और सोच समझकर काम करो। उनके विचार और उनके सिद्धांत इंजीनियरिंग जगत के लिए आज भी प्रासंगिक हैं और अनुकरणीय हैं। ऐसे प्रख्यात इंजीनियर की यादगार में विश्वेश्वरैया भवन के पास विश्वेश्वरैया द्वार बनाए जाने का निर्णय लिया गया है, जिससे लोगों को ,खास कर इंजीनियरिंग वर्ग को एक नई प्रेरणा मिलेगी और उनमें, उनके विचारों से एक नई प्रेरणा और नई उर्जा का संचार अपने कार्यों को
 करने में होगा।  गौरतलब है  कि विशेश्वरैय्या का जन्म दिवस "अभियंता दिवस "के रूप में मनाया जाता है।