ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
ब्रेकिंग 👉सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में मंगलवार को बहुत बड़ा आया मोड़. सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने आत्म हत्या और पैसा हड़पने की एफआइआर दर्ज कराई ::==पढें विस्तार से खबर किसे आरोपी बनाया
July 28, 2020 • Sun India Tv News चैनल • राष्ट्रीय

पटना के राजीव नगर थाने में सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है. प्राथमिकी दो दिन पहले रविवार को दर्ज कराई गई है.सुशांत के पिता ने रिया पर प्यार में सुशांत को फंसाकर उसके पैसे निकालने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया है.

केस दर्ज होने के बाद एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने जांच के लिए चार सदस्यीय टीम का गठन किया है. पटना पुलिस की टीम मुंबई के लिए रवाना हो गई है. टीम में दो इंस्पेक्टर और दो दारोगा शामिल हैं।रिया की वजह से सुशांत ने की आत्महत्या.

मिली जानकारी के अनुसार राजीव नगर के थानेदार निशांत सिंह को केस का अनुसंधानकर्ता बनाया गया है. पटना पुलिस टीम में इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर के साथ इंस्पेक्टर मो. कैसर आलम, मनोरंजन भारती और एक अन्य इंस्पेक्टर शामिल हैं. एफआइआर दर्ज होने के बाद बिहार पुलिस मामले की छानबीन करने के लिए मुंबई पहुंच गई है. 

पिता ने प्राथमिकी में रिया पर प्यार में सुशांत को फंसाकर उसके पैसे निकालने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि रिया चक्रवर्ती की वजह से ही सुशांत ने आत्महत्या की है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राजीव नगर थाने में रिया चक्रवर्ती के ऊपर सुशांत के पिता ने कई सनसनी खेज आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि रिया ने मेरे बेटे को पूरी तरह से अपने कब्जे में कर लिया था. उसकी वजह से सुशांत परिवार से अलग रहने लगा था. रिया की नजर सुशांत के पैसे पर थी. वो उसके बैंक अकाउंट की देख-रेख भी किया करती थी. पिता ने आरोप लगाया है कि रिया ने सुशांत से काफी पैसे ले रखे थे. इसी को लेकर उसने सुशांत पर आत्महत्या करने का दबाव बनाया. जिसके बाद सुशांत ने मुंबई में खुदकुशी कर ली. गौरतलब हो कि बिहार की राजधानी पटना के रहने वाले सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई में आत्महत्या कर ली थी. सुशांत की खुदकुशी के बाद लगातार सीबीआइ जांच कराने की मांग उठ रही है.

Rajiv Nagar Police Station Patna Case No. 241/20.Under Sections of IPC 341, 342, 380, 406, 420 and 306.