ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
ब्रेकिंग न्यूज़::मथुरा के 84 कोसी परिक्रमा मार्ग के बारे में यथा आवश्यक कार्यवाही शीघ्र सुनिश्चित की जाय:::-- केशव प्रसाद मौर्य ,उपमुख्यमंत्री।  
December 13, 2019 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

प्रयागराज से (बाबा विश्वनाथ )वाराणसी तक कांवर पथ बनाने की कार्य योजना बनाई जाए --अयोध्या, प्रयागराज, काशी व मथुरा के कार्यों पर विशेष फोकस किया जाए।  - केशव प्रसाद मौर्य ,उपमुख्यमंत्री।        लखनऊ :13 दिसंबर 2019।                

  उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने सड़कों के निर्माण में पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन का विशेष ध्यान रखने के निर्देश लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिए हैं ।उन्होंने कहा है कि रोड एक्सीडेंट पर नियंत्रण के लिए रोड सेफ्टी के सभी इंतजाम अनिवार्य रूप से किए जाएं ।श्री मौर्य आज अपने कैंप कार्यालय -7 कालिदास मार्ग पर लोक निर्माण विभाग के कार्यो की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे ।                                                  

 उन्होंने अब तक स्वीकृत ,अवमुक्त ,व व्यय धनराशि के बारे में मदवार  जानकारी  हासिल  करते हुये गहन समीक्षा की ।बैठक में बताया गया कि बजट के सापेक्ष 77 प्रतिशत व्यय कर लिया गया है ।उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि सड़कों के किनारे पड़ने वाले धार्मिक स्थलों के पास लोगों के बैठने व छाया आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि ठेकेदारी में निर्धारित आरक्षण का पालन  किया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि लगातार समीक्षा व वीडियो कांफ्रेंसिंग करने से कार्यों में गति तो आई ही है और फील्ड लेवल पर अधिकारियों व कर्मचारियों में  कार्यों  के प्रति सजगता भी बढ़ी है ।उन्होंने निर्देश दिए कि फील्ड लेवल के अधिकारी लगातार कार्यों का निरीक्षण करते रहें ,ताकि कार्य मानक के अनुरूप व गुणवत्तापूर्ण हों।उन्होंने कहा कि निर्धारित टाइम लाइन के अंदर कार्य पूर्ण कराए जाएं।    

  उन्होंने कहा कि मथुरा में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर पड़ने वाली अन्य विभागों की सड़कें लोक निर्माण विभाग ले ले । बृज विकास परिषद  से प्रस्ताव लिया जाए ।रोड पर  लाइटें आदि  बृज विकास परिषद से लगवाने हेतु प्रयास किए जाएं। श्री मौर्य ने कहा कि लोक निर्माण विभाग के जितने इंजीनियर प्रतिनियुक्ति पर गए हैं ,उनकी सूची बनाएं तथा प्रमोशन के लिए जो डीपीसी होनी है , नियमानुसार  शीघ्र करायी जाय।                                    

  उन्होंने कहा कि बेरोजगार  सिविल इन्जीनियरो को विभाग में नियमानुसार ठेकेदारी   करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए ,इसके लिए उनके खाते बैंक में खुलवाकर उन्हें ऋण दिलाकर कार्य करने की कार्य योजना बनाई जाए ।उन्होंने कहा कि शहीदों के परिवारो हेतु विभाग में  चन्दे के रूप में ,जो धनराशि एकत्र की गयी है  ,उसे शहीदों के परिवारों को उपलब्ध कराने की रूपरेखा तत्काल बनाई जाए। सड़कों पर  जो स्पीड ब्रेकर  बनाये जाएं वह निर्धारित  मानक के अनुरूप होने चाहिए।  श्री मौर्य ने कहा कि विभाग के टोल फ्री नंबर पर आने वाली शिकायतों के निस्तारण में तेजी लाई जाए। सड़कों के निर्माण में जो पेड़ आ रहे हों, उनको दूसरे स्थान पर लगाने हेतु प्रभावी प्लान बनाया जाए ।उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि उनके द्वारा  जो घोषणाएं की गई हैं उनके प्रस्ताव  मंगाकर कार्य  करवाये जांय। उन्होंने कहा मुख्य जिला मार्ग, अदर डिस्ट्रिक्ट मार्ग व ग्रामीण मार्गो की नंबरिंग व कोडिंग कराई जाए तथा जिलेवार  सभी विभागो की सड़कों की सूची बनवाकर उसे वेबसाइट पर डलवाया जाए ,ताकि पता चल सके कि कौन सड़क ,किस विभाग की है ।                   उन्होंने कहा कि विश्वेशरैया के नाम से गेट व विश्वेश्वरैया हाल का  सौन्दर्यीकरण  कराने का कार्य कराया जाए ।उन्होंने कहा कि नगर निगमों की 7 मीटर चौड़ी या उससे चौड़ी सड़कों को लोक निर्माण विभाग को लेने की कार्य योजना बनाई जाए तथा लखनऊ व वाराणसी की 7 मीटर या उससे चौड़ी सड़कों को लोक निर्माण विभाग को हस्तांतरित करने की कार्यवाही नियमानुसार शीघ्र अमल में लाई जाए ।          

श्री मौर्य ने निर्देश दे कि बड़े महानगरों में जिस तरह रिंग रोड बनाए जा रहे हैं ,उसी तरह से छोटे नगरों व कस्बों ,जहां बहुत भीड़ होती है ,वहां पर भी रिंग रोड बनाने की कार्य योजना बनाई जाए। उन्होंने कहा कि 80 नए स्टेट हाईवे शीघ्र  पूरा कराने के बारे में भी जरूरी कार्यवाही की जाए ।उपमुख्यमंत्री ने जिला योजना में स्वीकृत कार्यों के बारे में जानकारी हासिल करते हुए कहा कि शीघ्र ही  स्वीकृत कार्य के प्रस्ताव मांगे जाएं ।विभागाध्यक्ष ने बताया कि 22 जिलों  के  स्टीमेट भेज दिए गए हैं ।केंद्रीय  मार्ग निधि, तथा  इंटरस्टेट   कनेक्टिविटी तहत किए जा रहे कार्यों में भी तेजी लाने के निर्देश दिए ।कहा कि छोटे-छोटे मार्गो  व पुलो के निर्माण में प्राथमिकता दी जाए, मुख्य उद्देश्य लोगों को आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराना है ।उन्होंने पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना के तहत निर्मित किए जा रहे कार्यों  की भी समीक्षा  की।                                                   उन्होंने राम वन गमन मार्ग ,फाफामऊ सेतु, लखनऊ -कानपुर  एक्सप्रेस वे, अयोध्या -जगदीशपुर मार्ग फोरलेन करने व 11  नव घोषित राष्ट्रीय राजमार्गों के अनुरक्षण के संबंध में  एन एच ए आई को दिए गए निर्देशों का पालन करने के लिए प्रभावी पैरवी करने के निर्देश दिए।                                              उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रयागराज से (बाबा विश्वनाथ) वाराणसी तक कांवर पथ बनाने की कार्य योजना बनाई जाए। इसके अलावा अयोध्या ,प्रयागराज ,काशी व मथुरा के कार्यों पर विशेष रूप से फोकस किया जाए।                                                   बैठक में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग श्री नितिन रमेश गोकर्ण ,सचिव लोक निर्माण विभाग समीर वर्मा सचिव लोक निर्माण विभाग रंजन कुमार ,लोक निर्माण विभाग के विभागाध्यक्ष श्री आर0 सी 0बर्नवाल,विशेष कार्याधिकारी  प्रदीप कुमार प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।