ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
ब्रेकिंग न्यूज ::अश्वगंधा से कोरोना से बचाव हेतु बढ़ती है क्षमता, अश्वगंधा की मांग बढ़ने से मण्डल में खेती का क्षेत्र बढ़ाये जाने हेतु किसानों को किया जाये प्रेरित:::--- मण्डलायुक्त
June 3, 2020 • Sun India Tv News चैनल • मन्डल

मण्डलायुक्त ने ग्रामीण अंचलों में आम जनता से सम्पर्क कर कोरोना से बचाव हेतु सतर्क रहने के लिये किया आम नागरिकों को सजग निगरानी समितियों को कोरोना से बचाव हेतु थर्मल स्कैनर एवं पल्स आॅक्सीमीटर दिलाये जाएं: मुकेश मेश्राम

लखनऊ शहर के विभिन्न पार्कों में सहजन, तुलसी, अश्वगंधा, बेल, आंवला एवं लेमन ग्रास आदि के पौधों का कराया जायेगा रोपण: मुकेश मेश्राम

अप्रवासी कामगार मजदूरों को राशन किट शत-प्रतिशत उपलब्ध कराने के लिये उप जिलाधिकारी, सदर एवं मलिहाबाद को किया निर्देशित

लखनऊ: 02 जून, 2020

मण्डलायुक्त आज लखनऊ जनपद के ब्लाक काकोरी एवं माल के विभिन्न गांवों में भ्रमण कर ग्रामीणवासियों से सम्पर्क कर उन्हें सजग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सहजन, अश्वगंधा, गिलोय, तुलसी, एलोवेरा आदि की खेती को बढ़ावा देने हेतु कृषि उत्पादक संगठनों (एफपीओ) के माध्यम से पौध तैयार कराकर निःशुल्क वितरण कराया जाये। उन्होंने कहा कि मनरेगा, एनआरएलम राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन योजनान्तर्गत भी औषधीय पौधों की खेती को प्रोत्साहित किया जाये।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण नागरिक कोरोना से डरें नहीं, बल्कि बचाव हेतु सजग रहकर मास्क, साबुन से हाथों की सफाई, दो गज की दूरी डिस्टेंसिंग आदि का अधिक से अधिक उपयोग कर भीड़-भाड़ इलाके में जाने से बचें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण नागरिकों की सुविधा एवं कोरोना से बचाव हेतु गठित निगरानी समितियों को थर्मल स्कैनर एवं पल्स आॅक्सीमीटर ग्राम स्वास्थ्य एवं स्वच्छता समिति की नीति से क्रय करके उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये हैं।

उन्होंने कहा कि थर्मल स्कैनर के माध्यम से ग्रामवासियों के शरीर के तापमान की जानकारी कर तथा पल्स आॅक्सीमीटर से शरीर में आॅक्सीजन की मात्रा ज्ञात कर किसी भी व्यक्ति को यथाशीघ्र आवश्यकतानुसार चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचल में आने वाले प्रवासी मजदूरों पर नजर रखते हुये

श्री मुकेश मेश्राम ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि स्वयं सहायता समूह द्वारा बनाये जा रहे मास्क की खरीद कराकर विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों को उपयोग हेतु निःशुल्क उपलब्ध कराये जायें। उन्होंने कहा कि लखनऊ शहर के विभिन्न पार्कों के कुछ हिस्सों में सहजन, तुलसी, कढ़ी पत्ता, लेमन ग्रास, अश्वगंधा, गिलोय आदि के पौधों का रोपण कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा आदि से कोरोना से बचाव हेतु क्षमता बढ़ती है, इसलिये इनकी बहुत मांग बढ़ रही है। किसानों के हित में अश्वगंधा की अधिक से अधिक कृषि कराये जाने हेतु लोगों को प्रेरित किया जाये।

मण्डलायुक्त लखनऊ द्वारा विकास खण्ड काकोरी के अन्तर्गत ग्राम पंचायत थावर के पंचायत भवन में निगरानी समिति के साथ बैठक की गयी। उनके द्वारा निगरानी समिति के रजिस्टर चेक किये गये तथा मौके पर मौजूद आशा बहुओं से निगरानी समिति के कार्य एवं दायित्व के विषय में जानकारी हासिल की गयी एवं आशा बहुओं को कोविड-19 के अन्तर्गत कार्य के दौरान अपनाये जाने वाले 05 सूत्रों के बारे में जागरूक किया गया। उन्होंने निगरानी समिति के द्वारा की जा रही निगरानी के लिये प्रसन्नता जाहिर की। उन्होंने प्रवासी कामगार मजदूरों को राशन किट शत-प्रतिशत उपलब्ध कराने के लिये सम्बन्धित उप जिलाधिकारियों को निर्देशित किया। मण्डलायुक्त एवं मुख्य विकास अधिकारी द्वारा पंचायत भवन में वृक्षारोपण भी किया गया।

इसके उपरान्त मण्डलायुक्त द्वारा ग्राम पंचायत थावर में मनरेगा योजना के अन्तर्गत तैयार किये जा रहे गहरू तालाब का निरीक्षण किया गया, जहां पर 108 मनरेगा श्रमिक मौके पर कार्य पर नियोजित थे। निरीक्षण के दौरान खण्ड विकास अधिकारी काकोरी को निर्देशित किया गया कि कार्य पूर्ण होने पर गहरू तालाब के चारों तरफ वर्षाकाल में वृहद वृक्षारोपण का कार्य भी किया जाय, इनमे नीम, बरगद, जामुुन, आंवला, पीपल आदि स्थानीय प्रजाति के पेड़ लगाए जाएं। साथ ही तालाब की समुचित तरीके से डेªसिंग करायी जाये एवं बन्धे को बचाने हेतु वेटिवर घास, लेमन घास, करौंदा आदि लगाए जाएं। उसके पश्चात् मण्डलायुक्त लखनऊ द्वारा विकास खण्ड काकोरी के ग्राम पंचायत जगतापुर में पशु आश्रय केन्द्र का निरीक्षण किया गया, जिसमें सभी गौवंश अच्छी स्थिति में पाये गये। पर्याप्त चारा भूसा, शेड, पीने का पानी मिला। उन्होंने गर्मी को दृष्टिगत रखते हुये गौ संरक्षण केन्द्रों में रहने वाले पशुओं के लिये घास के फायरपू्रफ शेड बनाने तथा छायादार पेड़ लगाने आवश्यक व्यवस्थायें समय से अवश्य सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कोई भी पशु गर्मी अथवा अन्य किसी कारण से कतई न बीमार होने पाये और न ही उसके खाने के लिये चारे की कमी हो। पशु आश्रय केन्द्र में मण्डलायुक्त एवं मुख्य विकास अधिकारी द्वारा वृक्षारोपण भी किया गया। इसी क्रम में स्वयं सहायता समूह की महिला सदस्यों द्वारा तैयार किये जा रहे मास्क एवं स्कूल यूनीफार्म का भी निरीक्षण किया गया। प्राथमिक विद्यालय जगतापुर में निगरानी समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर उन्हे निर्देशित किया कि वह प्रत्येक प्रवासी मजदूर की प्रत्येक दिवस उनके घर में जाकर उनकी वृहद निगरानी करे।

खण्ड विकास अधिकारी काकोरी श्री संजीव गुप्ता ने बताया कि विकास खण्ड काकोरी के अन्तर्गत कोविड-19 के दृष्टिगत स्वयं सहायता समूह की दीदियों द्वारा 26000 मास्क तैयार किये गये है, जिसमें से 22000 मास्क मूल्य रू0 14/- में एवं 4000 मास्क शासन के नये निर्देशों के अनुसार रू0 05/- प्रति मास्क अर्थात् रू0 10/- में 02 मास्क स्थानीय लोगों को उपलब्ध कराये जा रहे हैं। मनरेगा योजना के अन्तर्गत विकास खण्ड काकोरी की ग्राम पंचायतों में तालाब खुदाई, सिंचाई हेतु नाली एवं नाला का निर्माण, खेतों/बागों की मेड़बन्दी एवं समतलीकरण एवं चक मार्गो का निर्माण किया जा रहा है।

ग्रामवासियों के संपर्क के दौरान मण्डलायुक्त के साथ मुख्य विकास अधिकारी, लखनऊ श्री मनीष बंसल सहित उप जिलाधिकारी, सदर सुश्री किंशुक श्रीवास्तव उप जिलाधिकारी, मलिहाबाद श्री विकास सिंह सम्बन्धित परगना अधिकारी एवं अन्य विभागीय अधिकारीगण उपस्थित थे