ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
ब्रेकिंग 👉मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के दृष्टिगत जनपद लखनऊ तथा कानपुर नगर की चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निर्देश दिए::===पढे विस्तार से खबर
September 2, 2020 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

इन जनपदों में मेडिकल टेस्टिंग, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा डोर-टू-डोर सर्वे कार्य को और बेहतर ढंग से संचालित किया जाए लक्षण की दृष्टि से संदिग्ध पाए गए लोगों का 12 घण्टे के अंदर एन्टीजन टेस्ट सुनिश्चित किया जाएकाॅन्टैक्ट ट्रेसिंग के कार्य को तत्परतापूर्वक संचालित करते हुए कोविड पाॅजिटिव रोगी के सम्पर्क में आए लोगों को 24 घण्टे के अंदर सर्च किया जाए

डोर-टू-डोर सर्वे करने वाली टीम के साथ एक मेडिकल टेस्टिंग टीम भी लगायी जाएकोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या बढ़ाने के निर्देश, के0जी0एम0यू0, एस0जी0पी0जी0आई0 तथा आर0एम0एल0आई0एम0एस0 कोविड मरीजों के लिए बेड्स की संख्या में वृद्धि करेंनिजी चिकित्सा संस्थानों में संचालित कोविड अस्पतालों में बेड्स में वृद्धि के लिए जिला प्रशासन कार्ययोजना बनाकर उसे समयबद्ध ढंग से लागू कराए

वेण्टीलेटर तथा एच0एन0एफ0सी0 के बेड्स की संख्या में वृद्धि की जाएकोविड-19 से बचाव व उपचार सम्बन्धी गतिविधियों में तेजी लाने के लिए अतिरिक्त मैनपावर की आवश्यकता का आकलन करते हुए कार्मिकों की तैनाती की जाएकोविड-19 के नियंत्रण के सम्बन्ध में सभी जनपदों के चिकित्सकों से संवाद करने के लिए राज्य मुख्यालय स्तर पर डिजिटल प्लैटफाॅर्म की व्यवस्था की जाए

लखनऊ: 02 सितम्बर, 2020

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 के दृष्टिगत जनपद लखनऊ तथा कानपुर नगर की चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इन जनपदों में मेडिकल टेस्टिंग, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा डोर-टू-डोर सर्वे कार्य को और बेहतर ढंग से संचालित किया जाए। उन्होंने कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किए जाने के निर्देश भी दिए हैं।

   मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद लखनऊ तथा कानपुर नगर में कोविड-19 के नियंत्रण के सम्बन्ध में की जा रही कार्यवाही की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार लोगों को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कृत संकल्पित है।

     मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि लक्षण की दृष्टि से संदिग्ध पाए गए लोगों का 12 घण्टे के अंदर एन्टीजन टेस्ट सुनिश्चित किया जाए। काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग के कार्य को तत्परतापूर्वक संचालित करते हुए कोविड पाॅजिटिव रोगी के सम्पर्क में आए लोगों को 24 घण्टे के अंदर सर्च किया जाए।

     मुख्यमंत्री जी ने डोर-टू-डोर सर्वे कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे करने वाली टीम के साथ एक मेडिकल टेस्टिंग टीम भी लगायी जाए। इसके लिए कार्ययोजना बनाकर उसे लागू किया जाए।

     कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या बढ़ाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि के0जी0एम0यू0, एस0जी0पी0जी0आई0, आर0एम0एल0आई0एम0एस0 कोविड मरीजों के लिए बेड्स की संख्या में वृद्धि करें। इसी प्रकार निजी चिकित्सा संस्थानों में संचालित कोविड अस्पतालों में बेड्स में वृद्धि के लिए जिला प्रशासन कार्ययोजना बनाकर उसे समयबद्ध ढंग से लागू कराए। वेण्टीलेटर तथा एच0एन0एफ0सी0 (हाई फ्लो नेज़ल कैन्युला) के बेड्स की संख्या में भी वृद्धि की जाए। उन्होंने कोविड तथा नाॅन कोविड अस्पतालों में आॅक्सीजन के कम से कम 48 घण्टे के बैकअप की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।

      मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना पर जीत हासिल करने के लिए जरूरी है कि इसके साथ युद्ध पूरी मजबूती से लड़ा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्साधिकारी सुबह मेडिकल काॅलेज में शाम को इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर में नियमित रूप से बैठक कर गहन समीक्षा करें।

      मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव व उपचार के सम्बन्ध में संचालित की जा रही विभिन्न गतिविधियों में तेजी लाने के लिए अतिरिक्त मैनपावर की आवश्यकता का आकलन किया जाए। इसके अनुरूप कार्यवाही करते हुए कार्मिकों की तैनाती की जाए। उन्होंने कहा कि राज्य मुख्यालय स्तर पर एक डिजिटल प्लैटफाॅर्म की व्यवस्था की जाए, जो कोविड-19 के नियंत्रण के सम्बन्ध में सभी जनपदों के चिकित्सकों से संवाद करे। उन्होंने कोविड मरीजों की गहन माॅनीटरिंग करने, कोविड वाॅर्ड में सी0सी0 टी0वी0 स्थापित करने तथा वरिष्ठ चिकित्सकों द्वारा नियमित राउण्ड लेकर मरीजों को देखे जाने के निर्देश भी दिए।

      इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर, के0जी0एम0यू0 के कुलपति लेफ्टिनेन्ट जनरल (डाॅ0) बिपिन पुरी, एस0जी0पी0जी0आई0, लखनऊ के निदेशक प्रो0 आर0के0 धीमान, आर0एम0एल0आई0एम0एस0 की कार्यवाहक निदेशक प्रो0 नुज़हत हुसैन सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।