ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
ब्रेकिंग 👉मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट के लिए विकास कार्याें एवं अवस्थापना सुविधाओं के सम्बन्ध में बैठक की::==पढे विस्तार से खबर
September 10, 2020 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

मुख्यमंत्री जी ने उ0प्र0 के विकास के लिए प्रधानमंत्री एवं केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के प्रति आभार व्यक्त कियाउ0प्र0 में 17 एयरपोट्र्स के लिए विकास कार्य हो रहे हैं: मुख्यमंत्री

बेहतर हवाई कनेक्टिविटी से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, व्यापक स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे तथा प्रदेश का तेजी से विकास होगाप्रधानमंत्री जी की मंशा के अनुरूप ‘उड़ान’ योजना और एयरपोट्र्स निर्माण कार्य में केन्द्र सरकार का पूरा सहयोगसभी 17 एयरपोट्र्स कार्यशील हो जाने पर नागरिक उड्डयन की सुविधा बढ़ेगीहवाई कनेक्टिविटी से पूरे प्रदेश का तेजी से विकास होगा, व्यापक स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे

अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट की स्थापना के लिए राज्य सरकार तेजी से कार्य कर रही हैमुख्यमंत्री ने बरेली, हिण्डन, सहारनपुर, मेरठ, लखनऊ तथा वाराणसी में एयरपोर्ट सम्बन्धी विकास कार्याें का अनुरोध केन्द्रीय मंत्री से कियाराज्य सरकार द्वारा एयरपोट्र्स के विकास कार्याें में पूरा सहयोग दिया जा रहा है: केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)

अयोध्या व चित्रकूट धार्मिक, आध्यात्मिक व पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण सोनभद्र जनपद में पर्यटन विकास की अनेक सम्भावनाएंउ0प्र0 के विकास के लिए नागर विमानन तथा आवासनएवं शहरी कार्य मंत्रालयों द्वारा पूरा सहयोग किया जाएगा

लखनऊ: 10 सितम्बर, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज लोक भवन में केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट के लिए विकास कार्याें एवं अवस्थापना सुविधाओं के सम्बन्ध में बैठक की।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षाें में उत्तर प्रदेश में 17 एयरपोट्र्स के लिए विकास कार्य हो रहे हैं। पहले यहां पर मात्र 02 एयरपोट्र्स कार्यशील थे, किन्तु वर्तमान में 07 एयरपोट्र्स कार्य कर रहे हैं। प्रधानमंत्री जी की मंशा के अनुरूप ‘उड़ान’ योजना और एयरपोट्र्स निर्माण कार्य में केन्द्र सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। सभी 17 एयरपोट्र्स कार्यशील हो जाने पर नागरिक उड्डयन की सुविधा बढ़ेगी। बेहतर हवाई कनेक्टिविटी से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, व्यापक स्तर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे तथा प्रदेश का तेजी से विकास होगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से एयरपोर्ट सम्बन्धी विकास कार्याें के लिए पूरा सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट की स्थापना के लिए राज्य सरकार केन्द्र सरकार की अपेक्षाओं के अनुरूप तेजी से कार्य कर रही है। इनके सम्बन्ध में कोई भी मुद्दा लम्बित नहीं रहेगा। तीनों जनपद के जिला प्रशासन द्वारा अपेक्षित कार्यवाही की जा रही है, जिससे हवाई अड्डों की स्थापना जल्द से जल्द हो सके और एयरपोर्ट अथाॅरिटी आॅफ इण्डिया द्वारा चयनित एयर रूट पर हवाई सेवाओं का संचालन कराया जा सके।

मुख्यमंत्री जी ने केन्द्रीय मंत्री से बरेली, हिण्डन, सहारनपुर, मेरठ, लखनऊ तथा वाराणसी में एयरपोर्ट सम्बन्धी विकास कार्याें को किये जाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि बरेली, हिण्डन, सहारनपुर व मेरठ से भी उड़ान की सुविधा मिलने पर कनेक्टिविटी बढ़ेगी और इन क्षेत्रों के नागरिकों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कुशीनगर अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट का शेष कार्य समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ेगा।

केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने मुख्यमंत्री जी के प्रति आभार व धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा एयरपोट्र्स के विकास कार्याें में पूरा सहयोग दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अयोध्या व चित्रकूट धार्मिक, आध्यात्मिक व पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण जनपद हैं। इसी प्रकार, सोनभद्र जनपद में भी पर्यटन की अनेक सम्भावनाएं हैं। इन तीनों ही जनपदों में एयरपोर्ट की स्थापना में राज्य सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। अयोध्या एयरपोर्ट चरणबद्ध ढंग से विकसित किया जाएगा। केन्द्र व राज्य सरकार अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र (म्योरपुर) एयरपोर्ट के लिए अवस्थापना सुविधाएं विकसित करने के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। जिला प्रशासन का भी सहयोग मिल रहा है। निर्धारित लक्ष्य के अनुसार कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास के लिए नागर विमानन तथा आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालयों द्वारा पूरा सहयोग किया जाएगा। सभी 17 एयरपोट्र्स कार्यशील होंगे, जिससे हवाई कनेक्टिविटी और नागरिक सुविधा बढ़ेगी तथा उत्तर प्रदेश विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ेगा

नागर विमानन मंत्रालय, भारत सरकार के अधिकारियों ने बताया कि बरेली, सहारनपुर में हवाई उड़ान के सम्बन्ध में कार्यवाही की जा रही है। मेरठ तथा हिण्डन से उड़ान के सम्बन्ध में स्वीकृति मिलने के बाद कार्यवाही की जाएगी। इसी प्रकार, लखनऊ तथा वाराणसी एयरपोर्ट के विकास कार्य निर्धारित प्रक्रिया के तहत किये जाएंगे।

इस अवसर पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अयोध्या, चित्रकूट तथा सोनभद्र के जिलाधिकारियों से संवाद किया गया। उन्होंने बताया कि एयरपोर्ट की स्थापना और विकास कार्याें के सम्बन्ध में कोई समस्या नहीं है। सभी कार्य अपेक्षित लक्ष्य के अनुसार पूरे किये जाएंगे।

इस मौके पर नागरिक उड्डयन मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नंदी’, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव नागरिक उड्डयन श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव लोक निर्माण श्री नितिन रमेश गोकर्ण, प्रमुख सचिव नगर विकास श्री दीपक कुमार, प्रमुख सचिव वन श्री सुधीर गर्ग, निदेशक सूचना श्री शिशिर तथा चेयरमैन एयरपोर्ट अथाॅरिटी आॅफ इण्डिया सहित नागर विमानन मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।