ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
ब्रेकिंग लखनऊ :*उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने सड़को एवं पुलों के निर्माण कार्यों के प्रगति की समीक्षा की*------
December 1, 2019 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

लखनऊः 01 दिसम्बर, 2019

*सड़कों व पुलों के निर्माण कार्य तेजी से व गुणवत्ता से करें उपमुख्यमंत्री*

*निर्माण कार्यों के दौरान सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान रखें- केशव प्रसाद मौर्य*

*सड़कें ऐसी हो कि आमजन सराहना करें, तभी ठीक माना जाएगा- उपमुख्यमंत्री*

*सेतु निगम, फूड प्रोसेसिंग, निर्माण निगम के अधिकारियों की अनुपस्थिति पर जताया असंतोष,किया जवाब-तलब*

  उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को सर्किट हाउस वाराणसी सभागार में सड़कों-पुलों के निर्माण कार्यों के प्रगति की समीक्षा की। श्री मौर्य ने कहा कि वाराणसी प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र है यहां की सड़कें सदैव ठीक-ठाक हालत में रहे। सड़कों-पुलों के कार्यों की आमजन सराहना करें ,तभी कार्य ठीक माना जाएगा। उन्होंने कार्यों में तेजी से गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए।
      उप मुख्यमंत्री श्री मौर्य ने अधिकारियों को जोर देकर कहा कि सड़कों-पुलों के निर्माण में सुरक्षा मानकों का पूरा पालन किया जाए। जहां जरूरत हो डायवर्जन ले। किसी प्रकार की दुर्घटना नहीं हो। पूर्ण सावधानी व सतर्कता बरती जाए।
     बैठक में बताया गया कि लोक निर्माण विभाग के सड़कों की वाराणसी की संख्या 50 है। जिसकी लंबाई 157.55 किलोमीटर है। सभी मार्गों पर पैच मरम्मत का कार्य पूर्ण हो चुका है। उपमुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि शहर की 7 मीटर चौड़ाई वाली सड़के जो नगर निगम की है। उन्हें लोक निर्माण विभाग को हस्तांतरित करा कर ठीक किया जाए।
     श्री मौर्य ने ग्रामीण क्षेत्रों की क्षतिग्रस्त सड़कों की विशेष मरम्मत का स्टीमेट भी मांगा है ताकि उस पर धन आवंटित करा कर ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कें भी ठीक हो सके। सकलडीहा-सैदपुर मार्ग तथा अलीनगर-सकलडीहा मार्ग को पैचलेस कर दिया गया है। बलुआ सेतु का मरम्मत कार्य पूर्ण हो गया तथा यातायात सुचारू रूप से चल रहा है। चौकाघाट लहरतारा निर्माणाधीन फ्लाईओवर का कार्य 82 प्रतिशत पूर्ण हो गया है।
      मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने जोर देकर कहा कि वाराणसी में युद्ध स्तर पर गुणवत्ता के साथ कार्य करें। इसकी प्रशंसा सुनने को मिले। अच्छे कार्य करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों को सार्वजनिक रूप से प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। बैठक में सेतु निगम, फूड प्रोसेसिंग, निर्माण निगम के अधिकारियों की अनुपस्थिति पर असंतोष व्यक्त करते हुए उनसे जवाब-तलब किया।