ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
अनुसूचित जाति/जनजाति के बुनकरों के सम्बन्ध में राज्य में व्यापक सर्वे कराया जाए, अनुसूचित जाति/जनजाति के बुनकरों को प्रशिक्षण दिया जाए: मुख्यमंत्री
June 25, 2020 • Sun India Tv News चैनल • प्रादेशिक

मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तावित झलकारी बाई कोरी हथकरघा एवं पावरलूम विकास योजना (एस0सी0पी0) का प्रस्तुतीकरण हथकरघा एवं पावरलूम क्षेत्र को सुदृढ़ किए जाने के निर्देश अनुसूचित जाति/जनजाति के बुनकरों को प्रशिक्षण दिया जाए प्रशिक्षण मिलने और जागरूकता उत्पन्न होने से अधिक से अधिक संख्या में लोग इस क्षेत्र में आएंगे और उन्हें रोजगार मिलेगा

हथकरघा एवं पावरलूम क्षेत्र के लिए सौर ऊर्जा की सम्भावनाओं को तलाशने के निर्देशवस्त्रों की उत्पादकता एवं गुणवत्ता बढ़ाने तथा उत्पादन लागत कम किए जाने पर फोकस पावरलूम बुनकरों को उन्नत तकनीक के आॅटोमेटिक/रेपियर लूम के संचालन का प्रशिक्षण दिया जाएहथकरघा बुनकरों को उन्नत तकनीक के हथकरघे उपलब्ध कराते हुए हथकरघा वस्त्रों की उत्पादकता एवं गुणवत्ता बढ़ायी जाए

लखनऊ: 24 जून, 2020

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने हथकरघा एवं पावरलूम क्षेत्र को सुदृढ़ किए जाने के निर्देश देते हुए कहा है कि इनसे जुड़े अनुसूचित जाति/जनजाति के बुनकरों के सम्बन्ध में राज्य में व्यापक सर्वे कराया जाए। उन्हांेने बुनकरों के लिए प्रशिक्षण प्रदान किए जाने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति/जनजाति के बुनकरों को प्रशिक्षण मिलने और उनमें जागरूकता उत्पन्न होने से अधिक से अधिक संख्या में लोग इस क्षेत्र में आएंगे और उन्हें रोजगार मिलेगा। उन्होंने हथकरघा एवं पावरलूम सेक्टर में आधुनिक तकनीक अपनाए जाने की बात कही। उन्होंने इस क्षेत्र के लिए सौर ऊर्जा की सम्भावनाओं को तलाशने के निर्देश दिए।

 मुख्यमंत्री जी के समक्ष आज यहां अपने सरकारी आवास पर प्रस्तावित ‘झलकारी बाई कोरी हथकरघा एवं पावरलूम विकास योजना (एस0सी0पी0)’ का प्रस्तुतीकरण किया गया। उन्होंने इस योजना में आवश्यक संशोधन के दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने इस क्षेत्र के लिए जागरूकता बढ़ाए जाने के निर्देश देते हुए कहा है कि हथकरघा एवं पावरलूम बुनकरों के सामाजिक व आर्थिक उत्थान के मार्ग प्रशस्त किए जाएं।

 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बुनकरों की आमदनी बढ़ाए जाने के उपाय किए जाएं। वस्त्रों की उत्पादकता एवं गुणवत्ता बढ़ाने तथा उत्पादन लागत कम किए जाने पर भी फोकस किया जाए। पावरलूम बुनकरों को उन्नत तकनीक के आॅटोमेटिक/रेपियर लूम के संचालन का प्रशिक्षण दिया जाए। इसी प्रकार, हथकरघा बुनकरों को उन्नत तकनीक के हथकरघे उपलब्ध कराते हुए हथकरघा वस्त्रों की उत्पादकता एवं गुणवत्ता बढ़ायी जाए। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति/जनजाति के हथकरघा एवं पावरलूम बुनकरों के स्वयं सहायता समूह के आधार पर भी उन्हें सहायता उपलब्ध करायी जा सकती है। 

 मुख्यमंत्री जी के समक्ष अपर मुख्य सचिव हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग श्री रमा रमण ने प्रस्तावित झलकारी बाई कोरी हथकरघा एवं पावरलूम विकास योजना (एस0सी0पी0) का प्रस्तुतीकरण करते हुए योजना के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी।

 इस अवसर पर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

--------

मुख्यमंत्री के समक्ष प्रवासी भारतीयों के लिए विकसित यूनीफाइड वेब पोर्टल के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण प्रवासी भारतीय विभाग द्वारा तैयार किए गए पोर्टल से अब प्रवासी भारतीयों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएं एक ही पोर्टल पर उपलब्ध हो सकेंगी: मुख्यमंत्री

 : मुख्यमंत्री ने कुछ सूचनाएं अद्यतन करते 

हुए पोर्टल को शीघ्र लाॅन्च करने के निर्देश दिए

पोर्टल का उद्देश्य प्रवासी भारतीयों को सभी आवश्यक सूचनाएं एक ही जगह पर उपलब्ध कराना

लखनऊ: 24 जून, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के समक्ष आज यहां उनके सरकारी आवास पर प्रवासी भारतीयों के लिए राज्य के प्रवासी भारतीय विभाग द्वारा विकसित किए गए यूनीफाइड वेब पोर्टल के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रवासी भारतीय विभाग द्वारा तैयार किए गए पोर्टल से अब प्रवासी भारतीयों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएं एक ही पोर्टल पर उपलब्ध हो सकेंगी। 

 प्रस्तुतीकरण देखने के उपरान्त मुख्यमंत्री जी ने इसमें कुछ सूचनाएं अद्यतन करते हुए इसे शीघ्र लाॅन्च करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसमें प्रत्येक वर्ष 24 जनवरी को मनाए जाने वाले उत्तर प्रदेश दिवस के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी उपलब्ध करायी जाए। साथ ही, उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग के सम्बन्ध में भी सभी सूचनाएं इस पोर्टल पर उपलब्ध करायी जाएं। उन्होंने कहा कि पोर्टल का उद्देश्य प्रवासी भारतीयों को सभी आवश्यक सूचनाएं एक ही जगह पर उपलब्ध कराना है। साथ ही, राज्य में उनकी गतिविधियों को सुगम बनाना भी है। 

 मुख्यमंत्री जी के समक्ष प्रस्तुतीकरण करते हुए अपर मुख्य सचिव प्रवासी भारतीय विभाग श्री आलोक कुमार ने बताया कि इस यूनीफाइड वेब पोर्टल का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश की पूर्व में संचालित 03 वेबसाइटों को इंटीग्रेट कर एक सिंगल प्लेटफाॅर्म पर लाना है। उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों को एक यूनीफाइड आॅनलाइन साॅल्यूशन उपलब्ध कराना है, जहां से वे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न सेवाओं के लाभ को आॅनलाइन प्राप्त कर सकें। इसके माध्यम से विश्वभर में रह रहे उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों का एक डेटाबेस तैयार किया जाएगा, ताकि इसका उपयोग समय-समय पर किया जा सके। इसके माध्यम से प्रदेश में निवेश प्रोत्साहन हेतु विभागों द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों, निवेशोन्मुखी नीतियों का विदेश में बसे प्रवासी भारतीयों में प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

 मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि विदेशों में बसे प्रवासी भारतीयों को लाभ पहुंचाने हेतु निवेश मित्र (उद्योग बन्धु), एम0एस0एम0ई0, पर्यटन, हथकरघा एवं वस्त्र उद्योग, गृह एवं सूचना विभाग के पोर्टल से लिंक किया गया है। ‘एन0आर0आई0 कनेक्ट’ के माध्यम से प्रमुख विभागों के नोडल अधिकारियों की सूचनाएं उपलब्ध करायी गई हैं। सभी विभागीय सुविधाएं जैसे यू0पी0 एन0आर0आई0 कार्ड, प्रवासी भारतीय रत्न पुरस्कार तथा प्रवासी भारतीय दिवस में सम्मिलित होने के लिए आवेदन पोर्टल के माध्यम से आॅनलाइन ही स्वीकृत किए जाएंगे। 

विदेशों में रोजगार हेतु उत्तर प्रदेश से जाने वाले लगभग 30 प्रतिशत कामगारों/अप्रवासी भारतीयों की विभिन्न समस्याओं के गुणवत्तापरक निस्तारण में यह नवनिर्मित पोर्टल सहायक सिद्ध होगा। अयोध्या के दीपोत्सव और बरसाने की होली की लाइव स्ट्रीमिंग भी इस पोर्टल के माध्यम से की जाएगी। प्रवासी भारतीयों को अपनी मातृभूमि से जोड़े रखने एवं प्रदेश में उनके मूल को खोजने हेतु टेªस योर रूट की सुविधा पर्यटन विभाग के माध्यम उपलब्ध करायी गयी है। 

बैठक में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।