ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
👉*नही रही कोरियोग्राफर सरोज खान*::==अलविदा
July 3, 2020 • Sun India Tv News चैनल • राष्ट्रीय

👉 : नई दिल्ली: बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान (Saroj Khan) अब हमारे बीच नहीं रहीं. देर रात उनका मुंबई में निधन हो गया. सरोज के निधन की वजह कार्डियक अरेस्ट बताई जा रही है. बता दें, सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद सरोज खान को 20 जून को बांद्रा स्थित गुरु नानक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहीं, अस्पताल में भर्ती होने के बाद सरोज खान की अनिवार्य कोविड-19 जांच भी की गई थी, जिसमें संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई थी.

👉:सरोज खान का जन्म 22 नवंबर 1948 को मुंबई में हुआ था. वह 71 साल की थीं. उनका असली नाम निर्मला नागपाल था. उन्होंने 200 से ज्यादा फिल्मों के लिए कोरियोग्राफी की थी. सरोज पहले असिस्टेंट कोरियोग्राफर थी, लेकिन 1974 में आई फिल्म 'गीता मेरा नाम' से वो कोरियोग्राफर बन गईं.

👉:बता दें, सरोज खान ने 1986 से लेकर 2019 तक कई हजारों की संख्या में बॉलीवुड फिल्मों में गानों को कोरियोग्राफ किया था, जिसमें 'निंबुड़ा-निंबुड़ा', 'एक दो तीन', 'डोला रे डोला', 'काटे नहीं कटते', 'हवा-हवाई', 'ना जाने कहां से आई है', 'दिल धक-धक करने लगा', 'हमको आजकल है इंतजार', 'चोली के पीछे' जैसे कई सुपरहिट और आइकोनिक गाने शामिल हैं.  

👉:सरोज खान ने 'तेजाब', 'खलनायक', 'मिस्टर इंडिया', 'चालबाज', 'नगीना', 'चांदनी', 'हम दिल दे चुके सनम',  'देवदास' जैसी कई हिट फिल्मों के गानों को कोरियोग्राफ किया था. सरोज खान ने आखिरी गाना फिल्म 'कलंक' के लिए तबाह हो गए को कोरियोग्राफ किया था. इस गाने में माधुरी दीक्षित डांस करती नजर आई थीं.

👉 :बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वो 72 साल की थीं। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, जिसके बाद वो 17 जून से ही अस्पताल में भर्ती थीं, लेकिन डायबिटीज में समस्या के बाद उनकी हालत बिगड़ गई। सरोज खान को मलाड में मिठ चौकी के पास के कब्रिस्तान में शुक्रवार सुबह 7 बजे के बाद दफनाया जाएगा