ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
लक्ष्मणनगरी में अमृत ज्ञान वर्षा महोत्सव का हुआ भव्य समापन
September 22, 2019 • Sun India Tv News चैनल

अपने आपको बदलेंगे तब आपका भाग्य बदलेगा मनुष्य अपना स्वर्ग अपने साथ लेकर धरती पर आता है

 

महामृत्युंजय मंत्र की ताकत समझाई आचार्य सुधांशु जी महाराज ने

लक्ष्मणनगरी में अमृत ज्ञान वर्षा का हुआ भव्य समापन

लखनऊ, २२ सितम्बर (संध्याकाल)।

मनुष्य अपना स्वर्ग अपने साथ लेकर धरती पर आता है। व्यक्ति अपना स्वर्ग खुद बनाता है और अपने नरक का निर्माण भी स्वयं करता है। स्वर्ग और नरक व्यक्ति की अपनी जीवन शैली पर निर्भर करता है। जैसे हम होते हैं वैसा ही जमाना अपने आसपास तैयार कर लेते हैं। 

यह उद्गार आज सायंकाल विश्व जागृति मिशन के संरक्षक - संरक्षक जाने-माने अध्यात्मवेत्ता आचार्य श्री सुधांशु जी महाराज ने यहां आशियाना अंचल के रेल मैदान में चल रहे सत्संग समारोह में व्यक्त किए। वह मिशन के लखनऊ मंडल द्वारा आयोजित तीन दिवसीय अमृत ज्ञान वर्षा महोत्सव के समापन अवसर पर हजारों की संख्या में मौजूद ज्ञान जिज्ञासुओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आप वैसा ही व्यवहार करें जैसा व्यवहार आप दूसरों से अपने लिए चाहते हैं। 

श्रीमद्भगवद्गीता के ज्ञान सन्देश सुनाते हुए श्रद्धेय महाराजश्री ने कहा कि मनुष्य अपने भाग्य का निर्माण खुद करता है। व्यक्ति का  भाग्य उसके अपने कर्मों के आधार पर बनता या बिगड़ता है। उन्होंने जनसमुदाय से कहा कि जब आप अपने आपको बदलने को तैयार होते हैं तब आपका भाग्य बदलना आरंभ हो जाता है। उन्होंने अपने आपमें नित्य सुधार करने के प्रयास करने को कहा।

सत्संग समारोह का समापन श्री सुधांशु जी महाराज के नागरिक अभिनंदन के उपरान्त दिव्य ईश आरती के साथ हुआ। इस अवसर पर विश्व जागृति मिशन की लखनऊ मंडल की चेयरपर्सन श्रीमती मीनाक्षी कौल ने तीनों दिन सत्संग महोत्सव में आए सुधी श्रोताओं तथा आनन्दधाम दिल्ली से आए सभी प्रतिनिधियों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया। नागरिक अभिनंदन टीम में मंडल प्रधान श्री बी.के.पांडेय, उपाध्यक्ष श्री सी.पी.गुलाटी,  महामंत्री श्री अजीत सक्सेना, कोषाध्यक्ष श्री राजीव मेहरोत्रा, श्री अशोक अग्रवाल, श्री मदन गोपाल श्रीवास्तव, श्री के.एस.गुप्ता शामिल थे। 

अमृत ज्ञान वर्षा महोत्सव में भारतीय जनता पार्टी पूर्वी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष श्री सुरेश चन्द्र तिवारी, उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान के अध्यक्ष डॉक्टर वाचस्पति मिश्र, राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष श्रीमती सुषमा सिंह, पूर्व राज्य मंत्री श्री नानक चन्द्र, पूर्व डीजीपी ट्रेनिंग, पूर्व डीआईजी कारागार श्री सुरेश चन्द्र श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।