ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के पात्र लाभार्थियों तक योजना का तत्काल पहुॅचाये लाभ -स्वाति सिंह
September 27, 2019 • Sun India Tv News चैनल


महिला कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाति सिंह ने की विभागीय समीक्षा बैठक की

बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं अभियान का कैम्प लगाकर करें व्यापक प्रचार-प्रसार 

लखनऊः 27.09.2019

प्रदेश की महिला कल्याण तथा बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाति सिंह ने आज बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार निदेशालय सभाकक्ष (इन्दिरा भवन) में महिला कल्याण की विभागीय समीक्षा बैठक की।
श्रीमती सिंह ने समीक्षा बैठक के दौरान सभी जिला प्रोबेशन अधिकारियों को निर्देश दिया कि 181 वूमेन हेल्पलाइन सभी जनपदों में आवश्यक रूप से संचालित किया जाना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए, अगर किसी भी जनपद में 181 वुमेन हेल्पलाइन नहीं संचालन होते हुए पाया जायेगा तो उस जनपद के डी0पी0ओ0 के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं को लेकर प्रदेश सरकार गंभीर है। इसके लिए कार्य योजना बनाकर हर सप्ताह कोई एक नया प्रोग्राम करें और जनमानस को जागरूक करने के लिए प्रचार-प्रसार करें तथा सभी प्रमुख स्थानों पर होर्डिंग लगवायें। 

राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगलम योजना प्रदेश सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है। सभी डी0पी0ओ0 इस योजना को गंभीरता से लें और कोई भी पात्र लाभार्थी इस योजना से वंचित न रहे इसका विशेष ध्यान देना होगा और कैम्प लगाकर इस योजना का प्रचार-प्रसार किया जाय। 

उन्होंने वन स्टाप सेन्टर के संचालन के लिए भवन निर्माण स्थिति पर 11 जनपदों में जमीन न चिन्हित कर पाने हेतु सम्बन्धित डी0पी0ओ0 को कड़ी फटकार लगाई और निर्देश दिया कि जमीन चिन्हित कर जल्द-से-जल्द प्रस्ताव निदेशालय भिजवायें। उन्होंने कहा कि जो सुधार गृह अच्छा कार्य कर रहंे है उनका नवीनीकरण किया जाय। जिला प्रोवेशन अधिकारी इसको गंभीरता से लें और जो सुधार गृह अच्छा कार्य करें उनके नवीनीकरण में देरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने सभी डी0पी0ओ0 को निर्देश दिया कि सुधार गृह में कैमरा हर हाल में ठीक रहे और अगर किसी सुधार गृह का कैमरा खराब मिलता है तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
समीक्षा बैठक में बालिका सुरक्षा जागरूकता अभियान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं, नारी सशक्तीकरण अभियान, बाल संरक्षण, स्टेट डाटा मैनेजमेंट सेन्टर, महिला शक्ति केन्द्र, वन स्टाप सेन्टर के अस्थायी संचालन भवन निर्माण, 181 वूमेन हेल्पलाइन तथा स्टेट रिर्सोस सेन्टर आफ वूमन एण्ड चाइल्ड एक अन्य बिन्दुओं पर चर्चा की गई है। 

इस अवसर पर प्रमुख सचिव, महिला कल्याण श्रीमती मोनिका एस.गर्ग, निदेशक महिला कल्याण श्री मनोज कुमार राय तथा विशेष सचिव सहित सभी जनपदों के जिला प्रोबोशन अधिकारी उपस्थित थे।