ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
अब आईआईएम लखनऊ के छात्र परिवहन निगम की काया कल्प करने में करेंगे मदद :-
September 20, 2019 • Sun India Tv News चैनल


  अब यात्रियों की सुरक्षा और सर्वोत्तम सेवा प्रदान करने के लिए आईआईएम लखनऊ के छात्र यूपीएसआरटीसी के साथ हाथ मिलाकर सर्वोत्तम प्रक्रियाओं का अध्ययन एवं क्रियान्वयन करेंगे।

 यूपीएसआरटीसी के यात्रियों की सुरक्षा बढ़ाने और सेवाओं को बेहतर करने के लिए प्राथमिकता के आधार पर "सर्वोत्तम अभ्यास के कार्यान्वयन" और उसके सफलता पूर्वक संचालन के लिए आईआईएम लखनऊ की टीम के सहयोग से एक केस स्टडी तैयार किया है।

  यूपीएसआरटीसी मुख्यालय टीम ने आईआईएम छात्रों की टीम के साथ दो सत्रों में विस्तृत चर्चा की और अब "यात्री सुरक्षा बढ़ाने एवं सेवाओं में सुधार" पर विस्तृत अध्ययन के लिए चीजें तय की गई हैं।

 आईआईएम लखनऊ के स्ट्रेटेजिक मैनेजमेंट हेड श्री क्षितिज अवस्थी, केस स्टडी का नेतृत्व करेंगे।

 पहले चरण में, आईआईएम लखनऊ के 4 सदस्य छात्रों की एक टीम उत्तर प्रदेश में यात्रियों की सुरक्षा और यात्री सेवाओं के लिए मौजूदा प्रावधानों के बारे में विस्तार से अध्ययन करेगी। यह टीम वर्तमान परिदृश्य का आकलन करने और सर्वोत्तम संभव का सुझाव देने के लिए उत्तर प्रदेश के 4 क्षेत्रों (वेस्ट यूपी, ईस्ट यूपी, सेंट्रल यूपी और बुंदेलखंड क्षेत्र) का अध्ययन करेगी।

- दूसरे चरण में, 4 सदस्यों की टीम अन्य राज्यों (अन्य राज्यों की सड़क परिवहन निगम) की सर्वोत्तम प्रचलन और दुनिया के अन्य हिस्सों में अपनाई जाने वाली सर्वोत्तम अभ्यास का अध्ययन करेगी, जिन्हें आसानी से यूपीएसआरटीसी में अपनाया जा सकता है।

  केस स्टडी और अंतिम रिपोर्ट की प्रस्तुति के लिए तीन महीने का समय निर्धारित है।  दिसंबर 2019 में यूपीएसआरटीसी को इसकी रिपोर्ट समिट / प्रस्तुत की जाएगी।

  आईआईएम लखनऊ टीम द्वारा अंतिम प्रस्तुति करने के बाद, यूपीएसआरटीसी बोर्ड
यात्रियों की सुरक्षा और सेवाओं में सुधार के लिए लागू किए जाने वाले सुझावों को सूचीबद्ध करेगा।