ALL अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय प्रादेशिक मन्डल जनपदीय तहसील ब्लॉक गाँव राजनैतिक अपराध
अन्य राज्यों की तुलना में उ0प्र0 की सड़के होंगी सबसे बेहतर हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम बनाये जायेंगे 2 सेतु:-केशव प्रसाद मौर्य उप मुख्यमंत्री
September 18, 2019 • Sun India Tv News चैनल

उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने लखनऊ मण्डल की रू0 1251 करोड़ की 793 परियोजनाओं का किया लोकार्पण/शिलान्यास

इन मार्गों/परियोजनाओं की लम्बाई 1360 किमी है

मेघावी छात्रों (टाॅप-20) के घरों के अलावा उनके स्कूलों तक भी बनायी जायेंगी सड़के।

सड़कों के किनारे बैठने के लिये बेन्चो, छाया व पीने के पानी की होगी व्यवस्था।

80 लोकसभा क्षेत्रों के अन्तर्गत 80 नये राज्यमार्गों का होगा निर्माण।

पारदर्शिता के दृष्टिकोण से बनाया गया है 'विकास प्रहरी' साफ्टवेयर।

एक्सीडेन्ट पर नियंत्रण के लिये किये गये उल्लेखनीय प्रयास।डिजिटलीकरण के मामले में उ0प्र0 लोक निर्माण विभाग प्रथम स्थान पर।

रू0 1500 करोड़ से पूरे किये गये सेतु निर्माण के अधूरे कार्य। सड़कों के बेहतरीकरण के लिये इन्जीनियर व दक्ष लोग दें सुझाव:-केेेशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ, दिनांक 18 सितम्बर 2019

उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज यहाॅ विशेश्वरैया हाल (निर्माण भवन) में लखनऊ मण्डल की लोक निर्माण विभाग की रू0 1251 करोड़ की 793 परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। जिसमें रू0 863 करोड़ की 689 परियोजनाओं (लम्बाई 1104 किमी) का लोकार्पण व रू0 388 करोड़ के 104 कार्यों (लम्बाई 256 किमी) का शिलान्यास किया गया।

इस अवसर पर उन्होने कहा कि उ0प्र0 सरकार सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास के लक्ष्य को लेकर कार्य कर रही है। लोक निर्माण विभाग के कार्यों की चर्चा करते हुए उन्होने कहा कि समस्त संसदीय क्षेत्रों/जनपदों में एक नये राज्यमार्ग का निर्माण किया जा रहा है। इस योजना में 67 राज्यमार्गों का चयन कर लिया गया है, जिनकी लम्बाई 5600 किमी0 है। उन्होने कहा कि नवघोषित राज्य मार्गों को यातायात की आवश्यकतानुसार 02 लेन/02 लेन पेव्ड शोल्डर चैड़ीकरण का कार्य भी कराया जायेगा एवं सघन आबादी के बीच से जाने वाले स्थानों पर बाईपास का निर्माण कार्य भी कराया जायेगा। इस योजना को पूर्ण करने में लगभग रू0 2200 करोड़ की अनुमानित लागत आयेगी

श्री मौर्य ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्ष 2018-19 में ग्रामीण सम्पर्क मार्गों के 4300 कार्य स्वीकृत किये गये, जिनकी लम्बाई 5900 एवं लागत रू0 3360 करोड़ है। गत वर्ष 249 मार्गों के (3000 किमी) चैड़ीकरण के कार्य स्वीकृत किये गये, जिनकी लागत रू0 6400 करोड़ है। उन्होने घोषणा की कि महत्वपूर्ण मार्गों के दोनों ओर स्थापित धार्मिक स्थलों को सम्पर्क मार्ग से जोड़ने व लोगों के बैठने के लिये बेंचों का निर्माण व छाया तथा पीने के पानी की व्यवस्था की जायेगी। उन्होने यह भी कहा कि नवीन तकनीक का प्रयोग कर वर्ष 2018-19 में रू0 942 करोड़ की व 30,00000 घन मीटर पत्थर की बचत की गयी है। इतने एग्रीगेट के प्रयोग से गाजियाबाद से प्रयागराज तक (लगभग 679 किमी) 02 लेन राज्य मार्ग श्रेणी का मार्ग निर्माण किया जा सकता है। श्री मौर्य ने कहा कि रोड सेफ्टी के कार्यों हेतु रू0 118 करोड़ की स्वीकृतियां जारी की गयीं।

श्री मौर्य ने यह भी बताया कि निर्माण कार्याें के निविदाओं में पारदर्शिता लाने तथा ठेकेदार/फर्मों को उनके निर्माण कैपेसिटी के अनुसार कार्य प्राप्त करने के लिये एक नये साफ्टवेयर का निर्माण किया गया है जो देश में प्रथम बार लोक निर्माण विभाग, उ0प्र0 में लागू किया जा रहा है। प्रथम चरण में यह व्यवस्था लखनऊ मण्डल में लागू की जायेगी, इस साॅफ्टवेयर का नाम 'विकास प्रहरी' दिया गया है। 
उपमुख्यमंत्री ने घोषणा की, कि अब प्रतिभाशाली छात्रों (टाॅप-20) के घरों तक ही नहीं बल्कि उनके स्कूलों तक भी सड़के बनायी जायेंगी। उन्होने यह भी घोषणा की कि हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम 02 सेतु बनाये जायेंगे। श्री मौर्य ने कहा कि डिजिटलीकरण के मामले में उ0प्र0 लोक निर्माण विभाग ने प्रथम स्थान हासिल किया है। उन्होने कहा कि सेतु निगम के 54 अधूरे कार्य रू0 1500 करोड़ की धनराशि से पूरे कराये गये हैं। इस वर्ष 207 सेतुओं का निर्माण रू0 8519 करोड़ की लागत से किया जा रहा है। 
इस अवसर पर विधायीकार्य एवं न्याय तथा ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के मंत्री श्री बृजेश पाठक ने कहा कि लोक निर्माण विभाग तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग श्री नितिन रमेश गोकर्ण ने लोक निर्माण विभाग की गतिविधियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग श्री वी0के0 सिंह ने किया। इस अवसर पर विधायक सर्वश्री सुरेश श्रीवास्तव, नीरज बोरा, अनिल सिंह, अविनाश त्रिवेदी, धीरेन्द्र बहादुर सिंह, सांसद लखनऊ के प्रतिनिधि के0पी0 सिंह, दिवाकर त्रिपाठी, सचिव लोक निर्माण विभाग, रंजन कुमार के अलावा मुख्य अभियन्ता संजय गोयल, एस0के0 श्रीवास्तव सहित अन्य अभियन्ता व जन प्रतिनिधि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।